The Correspondent

क्षमा शोभती उस भुजंग को, जिसके पास गरल हो|

क्षमा शोभती उस भुजंग को, जिसके पास गरल हो| December 21, 2017

दो लफ्ज़ो की है –माफ़ी | कांग्रेस संसद में नरेंद्र मोदी से माफ़ी मांगने को कह रही है | | माफ़ी मनमोहन सिंह से मांगने को | मोदी माफ़ी नहीं मानेगे, तर्क है की ये बाते संसद के बाहर उन्होंने कही है | संसद के बाहर उन्होंने 15 लाख रूपये हर व्यक्ति के जमाखाते में डालने को कहा था ,इसलिए कोई संसद में उन पर सवाल नहीं पूछ सकता | हालांकि उनके अध्यक्ष अमित शाह ने इसे जुमला करार दिया था | अब 2G मामले पर सभी आरोपी बरी हो गए है और फिर आवाज़ उठी की प्रधानमंत्री माफ़ी मांगे | अरे भाई कहाँ कहाँ माफ़ी मांगे ,अगर 2014 के आंकड़े देखे तो प्रधानमंत्री बनने के लिए नरेंद्र मोदी ने 437 रैलियां की | तक़रीबन हर रैली में उन्होंने 2G के घोटाले का ज़िक्र किए | अब वो माफ़ी मांगने इन 437 जगहों पर अगर जाए तब तक अगला चुनाव आ जाएगा | सो ये बेतुकी बातें है | हमारे देश के प्रधानमंत्री कुछ भी बोल सकते है | उनसे सवाल जवाब क्यों हों? अगर वो कहते है ही अहमदाबाद के साबरमती नदी में पहली बार सी प्लेन उतरा ,तो ये सत्य है | लोगो ने कि प्रफुल पटेल ने कहा 2010 में अंडमान निकोबार आइलैंड में से पलने पहली बार उतारा था | लोगो की बात आज कल सुन कौन रहा है ,जब हमारे प्रधानमंत्री ने कह दिया की वो पहली उन्होंने बार सी प्लेन उतारे है ,तो उतारे है ,कोई सवाल जवाब नहीं |

2G मामले में प्रधानमंत्री ने कहा था कि मनमोहन सिंह ऐसे व्यक्ति है जो रैनकोट पहन कर बाथरूम में नहाते है | ये बयान 2G मामले पर था ,अब इस पर माफ़ी क्यों ?
मोदी ने बिहार के इतिहास पर ही कहा था कि सिकंदर की सेना ने पूरी दुनिया जीत ली थी. लेकिन जब उन्होंने बिहारियों से पंगा लिया था,तो यहाँ आकर वो हार गया ,इतिहास में सिकंदर की सेना ने कभी गंगा पार ही नहीं की,लोगो ने इसपर माफ़ी मांगने को कहा ,भाई वो प्रधानमंत्री है माफीमंत्री नहीं | अंत में रामधारी सिंह दिनकरजी की एक कविता याद आ रही है |
क्षमा शोभती उस भुजंग को
जिसके पास गरल हो
उसको क्या जो दंतहीन
विषरहित, विनीत, सरल हो।

Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Leave a Reply