The Correspondent

प्रेम कुमार धूमिल हुए !

चेहरा हारा ,पार्टी जीती |

प्रेम कुमार धूमिल हुए ! December 18, 2017

प्रेम कुमार धूमल मुख्यमंत्री के तौर पर चुनाव लड़े , पर बुरी तरह पराजित हुए,इसका एक ही सन्देश है की हिमाचल की जनता ने उनको अपना नेता मानने से इंकार कर दिया है | बी जे पी का हर जीतने वाला उम्मीदवार अपनी लोकप्रियता की वजह से जीता ,न की धूमल की वजह से | धूमल ने पूरा दम ख़म लगा कर बी जे पी के नेताओं के ऊपर दबाव बना कर अपना नाम मुख्यमंत्री के लिए घोषित करवाया,पर प्रेम धूमिल हो गए |
धूमल धूमिल इसलिए हुए क्योंकि उनके पुत्र अनुराग ठाकुर का नाम भ्रष्ट नेताओं में सर्वोपरि था | चाहे क्रिकेट का मैदान हो या फिर राजनीती का अनुराग का नाम भ्रस्टाचारियों में एक था | लोग का धूमल परिवार से मोहभंग हो गया था | एक ज़माने में उनके नज़दीकी राजिंदर राणा ने धूमल के काले कारनामो को जनता के बीच रखा और उन्हें पटखनी दिए| बी जे पी हिमाचल के कई नेता शुरु से ही धूमल के मुख्यमंत्री के नाम को प्रोजेक्ट करने पर नाराज़ थे |
धूमल धूमिल इसलिए हुए क्योंकि जब तक वीरभद्र मुख्यमंत्री थे ,तब तक विपक्ष में होते हुए वो सरकार को न घेर कर अपनी राजनीति कर रहे थे |
धूमल धूमिल इसलिए हुए क्योंकि वो जनता के बीच न जाकर अपनी शेखी चंद नेताओं के बीच बघारते रहे |

Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Leave a Reply