सत्य परेशान हो सकता है -पराजित नहीं |

लोग भले ही गुमनाम कहे पर सच हमेशा से सामने सीना चौड़ा कर खड़ा रहा |

सत्य परेशान हो सकता है -पराजित नहीं | August 28, 2017

भूपेंद्र नारायण सिंह |

15 साल से सच्चा सौदा सच पर पूरी तरह पर्दा डाला हुआ था ,जो सच के साथ खड़े थे वो बेहद परेशान थे ,वो देखते थे की झूठे के साथ पूरी ताकतवर दुनिया है ,पर एक विश्वास और न्याय में आस्था थी की सच की जीत एक दिन ज़रूर होगी |वो अकेले थे और सत्ता वाले नेता डेरा के प्रमुख के साथ ,जब सत्य अपनी गवाही के लिए अदालत जाता था तो डेरे की आखे सत्य को घूरती थी,जब भूपिंदर सिंह हूडा हरियाणा के मुख्यमंत्री थे तो सच्चा सौदा के गुरमीत को उन्होंने Z प्लस की सुरक्षा दे दी थी ,और जो सच की लड़ाई लड़ रहे लोग कभी बसों से कभी रेल से कभी पैदल ,लेकिन हौसले बुलंद और निर्भीक रहे ,सरकारों ने तो सत्य को परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी |

सच लड़ता रहा पूरा सच भी लड़ता रहा ,जब खट्टर मुख्यमंत्री बने तो सच्चा सौदा ने खुलकर उनका सपोर्ट किया ,तब भी सच डरा नहीं डिगा नहीं,सच अकेले था और सच्चा सौदा के पास मंत्री, मुख्यमंत्री दरबार लगते रहे | सच अकेले था और सच्चा सौदा सैकड़ो गाड़ियों और लाखो लोगो के साथ अदलात पंहुचा ,सच तब भी डरा नहीं ,सच अकेले बैठा रहा ,लोग भले ही गुमनाम कहे पर सच हमेशा से सामने सीना चौड़ा कर खड़ा रहा | आखिर कार सच की जीत हुयी और ऐतिहासिक हुयी |

Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

Leave a Reply